Toy Making Business | खिलौने का बिजनेस

 खिलौने का बिजनेस | toy making Business

खिलौने का बिजनेस किस तरह से शुरू करें ? , हाउ टू स्टार्ट टॉय मेकिंग बिजनेस

खिलौने का बिजनेस ( best Laghu udyog) -   छोटे बच्चों के खिलौने काफी पसंद होते हैं और इसके लिए आज हम आप देखते होंगे कि जगह जगह पर कहीं पर यात्रा होती है जहां पर भीड़ होती है वहां पर खिलौने बेचने वाले लोग आपको दिखाई देते हैं.  अगर आप यह सोच लेते हैं कि हर लोग बेचने वाले जो होते हैं क्या वह खिलौने खुद से बनाते हैं या किसी कंपनी के साथ खरीद लेते हैं,   तो तो खिलौने बनाने वाले कोई और है और बेचने वाले कोई और.  हमारे रिसर्च में यह देखा गया कि काफी कम ऐसे लोग हैं जो खिलौनों को बनाते हैं.  तो  तो हमने यह सोचा क्यों ना हम अपने पाठकों के लिए खिलोना का बिजनेस  कैसे करें इसकी जानकारी दें. 

toy making
toy making


कम लागत का उद्योग अगर हम ऐसा उद्योग ढूंढ रहे हैं ,तो उसमें खिलौने बनाने का बिजनेस या खिलौना का उद्योग एक अच्छी खासी निवेश के साथ अच्छा प्रॉफिट देने वाला बिजनेस है.   कम लागत में लघु उद्योग  शुरू किया जा सकता है अगर आप खिलौनों को बनाने का बिजनेस करना चाहते हैं. 


 गांव में उद्योग की काफी कमी होती हैं,  अगर खिलौने बनाने का व्यवसाय गांव के लोग करते हैं तो एक सही बिजनेस  ( Best laghu udyog),  और तरक्की करने वाला बिजनेस में कम लागत का उद्योग कम लागत में लघु उद्योग की अगर हम बात करें तो उसमें गांव के लोगों के लिए यह बिजनेस काफी अच्छा है. 


प्लास्टिक के जरिए खिलौनों का निर्माण होता है.  प्लास्टिक के खिलौने बनाने की मशीन,  खिलौने बनाने की विधि,  प्लास्टिक के खिलौने होलसेल रेट,  इसके बारे में थोड़ी सी जानकारी नीचे बताने की कोशिश की है,  जिसे आप इस बिजनेस में इस्तेमाल करेंगे. 


खिलौनों की बाजार में मांग

 बाजार में खिलौने का व्यवसाय की मांग  आपको बता दें कि जनसंख्या के अनुसार   छोटे बच्चों की संख्या काफी ज्यादा मात्रा में पाई जाती हैं.  जाहिर है इसकी वजह से  और बच्चों को खिलौने काफी पसंद होते हैं इसकी वजह से काफी ज्यादा खिलौने बिकते हैं.   इसकी वजह से आपका खिलौनों का बिजनेस काफी अच्छा खासा बढ़ता है.  भारत ने अपने देश के  खिलौना के व्यवसाय बनाने वाले लोगों के लिए सब्सिडी भी बनाई है तुम की यह देश चीन से खिलौने   खरीद लेता था,  भारत को जब इस बात का पता चला तो आत्मनिर्भर भारत में खिलौनों के व्यवसाय को भी शामिल किया गया है. 


खिलौने बनाने के बिजनेस को कैसे शुरू करें

खिलौने बनाने की वेबसाइट को शुरू करने के लिए आप को बच्चों के लिए किस तरह की खिलौने पसंद होते हैं इसकी जानकारी लेना काफी जरूरी है.  ज्यादातर बच्चों को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस,  गाड़ियां,   जोकर,  डॉल  इस तरह की चीजें काफी पसंद आती है.  आप खिलौने बनाते वक्त इस चीज का ध्यान रखें .  

बच्चे को पसंद आने वाली चीजें बनाकर आप इस बिजनेस की शुरुआत बड़ी अच्छी तरीके से कर सकते हैं ध्यान रखें इस बिजनेस को आपको ज्यादा पढ़ने के लिए इसकी एडवर्टाइज करना काफी जरूरी है.  एडवर्टाइज के लिए आप दो तरीके का इस्तेमाल कर सकते हैं एक है इंटरनेट से आप एडवर्टाइज करके सोशल मीडिया के माध्यम से इस प्रोडक्ट को सेल आउट कर सकते हैं.  दूसरा तरीका यह है कि अगर आप एरिया में शहर के कुछ बीचोबीच या शहर के आने-जाने वाले रास्तों पर अगर पोस्टर लगवा देते हैं तो भी बच्चों का एक अट्रैक्टिव बन सकता है और आपका यह प्रोडक्ट बेचने में और लोगों तक पहुंचने के लिए मदद हो सकते हैं. 


खिलौने बनाने के लिए कच्ची सामग्री

 खिलौनों के लिए आपके पास दो तरह की कच्ची सामग्री हो सकती है एक खिलौने लकड़ी के माध्यम से बनवाए जाते हैं और दूसरे जो खिलौने होते हैं जो प्लास्टिक के द्वारा बनाए जाते हैं. लकड़ी के इस्तेमाल से अगर आप खिलौने का बिजनेस करते हैं या खिलौने बनवाते हैं तो इसके लिए आपको लकड़ी का किस तरह का मटेरियल चाहिए वह आपको आपके लकड़ी से लड़के पास बड़ी आसान तरीके से मिल जाता है. प्लास्टिक मटेरियल के लिए प्लास्टिक मटेरियल प्रोवाइडर शहर में बहुत सारे मिलते हैं इसका इस्तेमाल आप इंटरनेट के जरिए भी कर सकते हैं इंटरनेट पर आपको बहुत सारे ऐसे मटेरियल प्रोवाइड करने वाले लोग मिल जाएंगे वहां से आप प्लास्टिक का मटेरियल मंगवा सकते हैं.  इलेक्ट्रॉनिक मटेरियल के लिए आपको इलेक्ट्रॉनिक स्टोर से सस्ता मिल सकता है,  प्राइस कितनी है कितने तक जा सकती इसकी देखरेख के लिए आप ऑनलाइन भी चेक कर सकते हैं. 



खिलौना बनाने के लिए मशीन

 खिलौना बनाने के लिए अलग-अलग तरह के की मशीन का इस्तेमाल किया जाता है इसमें अगर हम देखा जाए तो कई सारे इस तरह के एक शख्स होते हैं जो मशीन के जरिए ही दिए जा सकते हैं तो जिस हिसाब का शेप देने के लिए एक सही मशीन हो सकती है उसी मशीन का खरीदार किया जा सकता है.  कुछ लोग ऐसे होते हैं जो हाथ से ही बहुत अच्छे खासे से बनवा देते हैं तो उनके लिए मशीन का इस्तेमाल कुछ भी काम का नहीं है.  ऑटोमेटिक काम करने के लिए बहुत सारे ऐसे मार्केट में मशीन से मिलते हैं जिन्हें लेकर आप हार्डवेयर की शॉप से आप इस तरह की मशीन का इस्तेमाल कर सकते हैं या वहां पर आपको यह  मशीन मिल सकते हैं.


खिलौनों का निर्माण करने वाली कंपनी

 मेक इन इंडिया के माध्यम से बहुत सारी ऐसी कंपनियां हैं, जो खिलौना का निर्माण शुरू कर चुके हैं. लेकिन अब तक कोई एक कंपनी ऐसी नहीं है जो ज्यादा लेवल पर पॉपुलर हो चुकी हैं.  क्योंकि एक साथ ही बहुत सारे लोग इस पर काम नहीं कर रहे हैं और जो कर रहे हैं उनके लिए लोकल मार्केट ही काफी बड़ा मार्केट बन रहा है.  तो अगर आप इस बिजनेस को शुरू कर रहे हैं तो काफी अच्छी बात है क्योंकि इसका बिजनेस काफी ज्यादा समय तक चल सकता है. 


खिलौना बनाने के लिए लाइसेंस

 खिलौने का व्यवसाय के लिए आपको कुछ सरकारी डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है जिसके हिसाब से आप अपने बिजनेस को बढ़ावा दे सकते हैं.

व्यापार रजिस्ट्रेशन करवाना काफी जरूरी है, उसी के साथ साथ ट्रेड लाइसेंस का इस्तेमाल आपको करना काफी जरूरी है.

 जीएसटी रजिस्ट्रेशन करना काफी अनिवार्य है इसकी मदद से गवर्नमेंट को टैक्स दिया जाता है. एनओसी का भी होना काफी जरूरी है. क्योंकि आपके प्रोडक्ट से कोई भी प्रदूषण हो रही है, या नहीं कितने प्रदूषण हो रही है इसका भी ध्यान रखने के लिए एनओसी का होना काफी जरूरी.


खिलौना का बिजनेस करने के लिए कर्मचारियों की आवश्यकत

 खिलोना का व्यवसाय करने के लिए अगर आप बड़े लेवल पर फैक्ट्री बनवाते हैं, तो इसमें आपको अलग-अलग लोगों की जरूरत पड़ सकती हैं.   जिसमें प्रोडक्ट बनाने के लिए कितने प्रोडक्ट पर दिन में बना रहे हैं, कौन कौन से प्रोडक्ट पर काम किया जा रहा है उस पर निर्भर करता है, कि आपको कितने लोग लगने वाले हैं.  साथ में ही आपको पैकेजिंग करने के लिए एक दो आदमी चाहिए.  आपका हिसाब रखने के लिए उसके लिए भी आप कर्मचारी के रख सकते हैं.  आप यह  काम कॉन्ट्रैक्ट की मदद से भी कर सकते हैं. जिसमें आपको लोगों को बहुत सारे लोगों को एक साथ काम दे सकते हैं जिसे खत्म करने के बाद एक साथ ही पेमेंट करना होता है. 


खिलौनों कहां पर बेचे

खिलौनों का निर्माण करने के बाद सब से यह महत्वपूर्ण काम बचा है कि,  हमको खिलौने कहां पर बेचने हैं तो सबसे पहले आप को सबसे बड़ा मार्केट जो मिलने वाला है. वह मार्केट है ऑनलाइन.  ऑनलाइन की मदद से आप खिलौनों को काफी अच्छी तरीके से भेज सकते हैं,  इसके लिए आप अपनी खुद की वेबसाइट बनवा सकते हैं. जिनकी मदद से आप से ले उसको अपनी वेबसाइट तक लाएंगे और उसके बाद आपके प्रोडक्ट ऑटोमेटिक सेल होने शुरू हो जाएंगे. दूसरा आफ अमेजॉन फ्लिपकार्ट ऐसी वेबसाइट पर जाकर  अपने प्रोडक्ट लिस्ट कर सकते हैं, और वहां से आप सेल कर सकते हैं. 

 लोकल मार्केट में भी आप दुकानदारों  को कुछ कमीशन बेस पर यह प्रोडक्ट भेज सकते हैं. 


खिलौने बेचने के लिए यह चीजें आपको काफी मदद कर सकती हैं और आप बढ़िया सा तरीके से इस तरह से बढ़िया तरीके से इस बिजनेस को बढ़ा सकते हैं बेच सकते हैं.


खिलौने के कंपनी में कितना निवेश करना चाहिए

 खिलौना की कंपनी में आप अपने हिसाब से आप किस तरह का मार्केट बनवा सकते हैं उसके हिसाब से आप पैसे इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं.   सबसे पहले शुरुआती दिनों में कम प्रोडक्ट के साथ शुरुआत की जा सकती है और अगर आपको अच्छी खासी सेल्हा रही हैं तो आप इन प्रोडक्ट को बढ़ाकर अच्छे खासे मोटी कंपनी भी डाल सकते हैं. इसके लिए शुरूआत की निवेश देखें तो एक प्रोडक्ट को आपका  ₹100 से लेकर ₹5000 कब तक का खर्चा आ सकता है. 





Previous Post Next Post